शैक्षिक गुणवत्ता को धार देंगे एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ARP), शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और व नियमित निगरानी में आएगी तेजी

शैक्षिक गुणवत्ता को धार देंगे एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ARP), शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और व नियमित निगरानी में आएगी तेजी

October 25, 2019  

लखनऊ: बेसिक शिक्षा विभाग अब परिषदीय स्कूलों में शैक्षिक गुणवत्ता पर जोर देगा। प्रदेश के सभी जिलों में एकेडमिक रिसोर्स ग्रुप के गठन के बाद परिषदीय स्कूलों में शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और उसकी नियमित निगरानी में तेजी आएगी।

■ बेसिक स्कूलों में शैक्षिक गुणवत्ता देखेंगे ARP, पांच सदस्यीय कमेटी करेगी चयन। 


वहीं शिक्षकों को भी टीचिंग मॉड्यूल से लैस करने की तैयारी है। एकेडमिक रिसोर्स ग्रुप के तहत प्रत्येक ब्लॉक में पांच एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) और एक सदस्य डायट मेंटर के रूप में तैनात किया जाएगा। हर एआरपी को प्रति माह न्यूनतम 30 और डायट मेंटर को 10 स्कूलों में प्रेरणा ऐप के माध्यम से ऑनलाइन शैक्षिक सहयोग देना और निगरानी करनी होगी। इसके अलावा उन्हें बच्चों के लर्निंग आउटकम को हासिल करने के लिए समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय की ओर से विकसित कराये गए टीचिंग माड्यूल के आधार पर तैयार की गई रणनीति को स्कूलों में लागू कराना होगा। 



एआरपी को सिर्फ स्कूलों में एकेडमिक सुपरविजन का दायित्व सौंपा गया है और उनके कंधों पर सिर्फ शैक्षिक गुणवत्ता का दारोमदार होगा। खंड शिक्षा अधिकारी उनसे कोई काम अलग से नहीं ले सकेंगे। उनकी नियमित उपस्थिति उनके द्वारा प्रेरणा ऐप पर अपलोड की जाने वाली सुपरविजन रिपोर्ट के आधार पर मानी जाएगी।
शैक्षिक गुणवत्ता को धार देंगे एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (ARP), शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और व नियमित निगरानी में आएगी तेजी Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 7:10 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.