नई शिक्षा नीति : आसान होंगी परीक्षाएं, 2022 तक बदलेगी मूल्यांकन प्रणाली

नई शिक्षा नीति : आसान होंगी परीक्षाएं, 2022 तक बदलेगी मूल्यांकन प्रणाली। 

आसान होंगी परीक्षाएं, 2022 तक बदलेगी मूल्यांकन प्रणाली
November 04, 2019  
राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने कहा है कि स्कूली शिक्षा में मौजूदा मूल्यांकन प्रणाली के ‘हानिकारक प्रभाव’ हैं और वह 2022 तक मूल्यांकन प्रणाली में बदलाव के लिए जल्द दिशानिर्देश तैयार करने वाला है। मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रलय ने यह जानकारी दी। इस मसौदे को एचआरडी मंत्रलय ने अंतिम स्वरूप दिया है और अब मंजूरी के लिए इसे केंद्रीय कैबिनेट के सामने पेश किया जाएगा।
बता दें कि एचआरडी मंत्रलय अपनी नई शिक्षा नीति (एनईपी) को अंतिम स्वरूप देने की प्रRिया में है। उसने इसका अंतिम मसौदा भी प्रस्तावित किया है जिसमें बोर्ड परीक्षाओं की गड़बड़ियों को हटाने की बात कही गई है। साथ ही सभी छात्रों को किसी भी दिए गए स्कूली वर्ष के दौरान दो अवसरों पर बोर्ड परीक्षा में बैठने की अनुमति होगी। बोर्ड परीक्षाओं को ‘आसान’ बनाया जाएगा। एनसीईआरटी करीब 14 साल बाद राष्ट्रीय पाठ्यक्रम की रूपरेखा (एनसीएफ) की समीक्षा कर रहा है। वह यह नई रूपरेखा के साथ तालमेल में मूल्यांकन दिशानिर्देश तैयार करेगा। मसौदे ‘मौजूदा मूल्यांकन प्रणाली के हानिकारक प्रभावों को हटाए जाने की बात कही गई है। मसौदे के मुताबिक, बोर्ड परीक्षाएं समग्र विकास को प्रोत्साहित करने वाली होंगी तथा छात्र खुद की रुचि के आधार पर कई विषयों में से पसंदीदा विषय का चयन कर पाएंगे और उसी में वे बोर्ड परीक्षा भी दे पाएंगे।’ शिक्षा नीति को 1986 में बनाया गया था और 1992 में इसमें संशोधन किया गया।


नई शिक्षा नीति का मसौदा: मानव संसाधन विकास मंत्रलय ने कहा, एनसीईआरटी जल्द जारी करेगा दिशानिर्देश

नई शिक्षा नीति : आसान होंगी परीक्षाएं, 2022 तक बदलेगी मूल्यांकन प्रणाली Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 7:36 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.