शहर के स्कूलों में दूर होगी शिक्षकों की कमी, मिड डे मील से भी हटाए जाएगें शिक्षक

शहर के स्कूलों में दूर होगी शिक्षकों की कमी, मिड डे मील से भी हटाया जाएगा शिक्षकों को 

 
सुदूर क्षेत्रों के बेसिक स्कूलों में स्थानीय शिक्षकों को मिलेगी तैनाती, जल्द ही मिड डे मील संबंधी जिम्मेदारी से भी मिलेगी निजात

 

 प्रयागराज : सब कुछ योजना के अनुरूप रहा तो शहरी क्षेत्र के अध्यापकों को दूरदराज के गांवों में अध्यापन के लिए नहीं जाना पड़ेगा। शिक्षक समय से स्कूलों में पहुंचे, इसलिए शासन नई नीति बना रहा है। इसमें सुदूर ग्रामीण इलाकों में स्थानीय शिक्षकों को तैनाती में वरीयता दी जाएगी। माना जा रहा है कि स्थानीय अध्यापक प्रतिदिन समय से स्कूल पहुंचकर अध्यापन करा सकेंगे। यह संकेत महानिदेशक (बेसिक शिक्षा) विजय किरन आनंद ने दिया है।


हाल ही में प्रयागराज आए विजय किरन आनंद ने कहा कि पिछले कुछ वर्षो में सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ी है। स्कूलों में संसाधन भी बढ़े हैं लेकिन अध्यापकों की कमी जरूर है। यह समस्या भी सामने आई है कि दूरदराज के स्कूलों में तैनात शहरी क्षेत्र में रहने वालेशिक्षक समय से स्कूल नहीं पहुंचते। असल में उनका काफी समय आने जाने में ही गुजर जाता है। इसलिए कोशिश यह है कि स्थानीय शिक्षकों को ही तैनाती दी जाए। 


महानिदेशक ने बताया कि शिक्षक सिर्फ अध्यापन के प्रति फोकस्ड रहें इसलिए अन्य जिम्मेदारियों को कम किया जाएगा। मिड डे मील का काम उनके जिम्मे नहीं रहेगा। इसकी पूरी जिम्मेदारी किसी अन्य संस्था को दी जाएगी। मथुरा और लखनऊ में ऐसी पहल के बेहतर परिणाम मिले हैं। अध्यापकों को प्रशिक्षण आदि के लिए बार बार मुख्यालय नहीं दौड़ना पड़ेगा। सभी प्रशिक्षण ऑनलाइन होंगे। प्रपत्रों की जांच, फाइलों के रखरखाव का बोझ भी कम किया जाएगा।


प्रयागराज : शिक्षण व्यवस्था को बेहतर बनाने के सभी प्रयास किए जाएंगे। खासकर शहरी क्षेत्र के विद्यालयों में शिक्षकों की कमी को शीघ्र दूर किया जाएगा। यह जानकारी बेसिक शिक्षा के महानिदेशक विजय किरन आनंद ने दी। रविवार को वह कुंभ मेला प्राधिकरण की बैठक में शामिल होने के लिए आए थे।


अनौपचारिक बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के लागू होने के बाद शिक्षा व्यवस्था में व्यापक सुधार होगा। यह भी कहा कि बेसिक शिक्षा के स्कूलों में छात्र-छात्रओं की संख्या बढ़ी है और शिक्षण में भी व्यापक सुधार हुआ है। बड़ी संख्या में जो अध्यापक कहीं-न-कहीं अटैच थे उनको हटाकर स्कूल भेज दिया गया है। आने वाले समय में शिक्षकों को सिर्फ शिक्षण कार्य तक रखा जाएगा। यह भी बताया कि मिड-डे मील का काम स्कूल के शिक्षकों को करना पड़ता है, उसे भी हटाया जायेगा।



बेसिक शिक्षा के महानिदेशक ने शिक्षण की गुणवत्ता पर दिया बल
एक बैठक के सिलसिले में रविवार को शहर पहुंचे महानिदेशक ने मीडिया से कहा कि परिषदीय स्कूलों में छात्र छात्राओं की संख्या बढ़ी है और शिक्षण में भी व्यापक सुधार हुआ है। आने वाले समय में शिक्षकों से शिक्षा के अलावा दूसरा काम नहीं लिया जाएगा। मिड-डे मील का काम भी लखनऊ और मथुरा की तरह किसी संस्था को सौंपा जाएगा।
शहर के स्कूलों में दूर होगी शिक्षकों की कमी, मिड डे मील से भी हटाए जाएगें शिक्षक Reviewed by राम कृष्ण मिश्र (रिक्की) on 6:07 AM Rating: 5

No comments:

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.