जो खोजना चाहते हों वह यहाँ खोजें

Flat Rs. 2000 Off on "Moto G" Phones (8 gb and 16 gb both models)

72825 की भर्ती काउंसलिंग 15 अगस्त के बाद : ऑनलाइन काउन्सलिंग की तैयारी

लखनऊ। प्राथमिक विद्यालयों में 72825 सहायक अध्यापकों की भर्ती की काउंसलिंग अगस्त के अंत तक होगी। इसकी मेरिट 15 अगस्त के बाद जारी की जाएगी। सचिव बेसिक शिक्षा एचएल गुप्ता ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ इस मसले की समीक्षा की। उन्होंने एनआईसी के अधिकारियों से भी इस पर बात की।
प्रदेश सरकार ने सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए आवेदन मांगे थे। लेकिन जब डाटा कंपाइल हुए तो कई प्रकार की गड़बड़िया निकल आईं। इस पर आवेदकों से आपत्तियां मांगी गई थीं। अब इसकी जिलावार मेरिट 15 अगस्त के बाद जारी कर दी जाएगी। सचिव ने शुक्रवार को बैठक में एनआईसी के अधिकारियों से कहा कि जितने भी प्रत्यावेदन आए हैं उनका निस्तारण कर शीघ्र मेरिट तैयार की जाए।




बैठक में राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के अधिकारियों को भी बुलाया गया था। इसमें यह भी चर्चा हुई कि सहायक अध्यापकों की मेरिट किस प्रकार बनाई जाए ताकि इसमें कोई गड़बड़ी न रह जाए।

खबर साभार : अमर उजाला

खबर साभार : हिंदुस्तान 

Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

शिक्षा विभाग में 19 अधिकारियों के तबादले : कई मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक इधर से उधर

लखनऊ। शिक्षा विभाग में शुक्रवार को 19 अधिकारियों के तबादले कर दिए गए। अशोक कुमार सिंह को मुरादाबाद का मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक) बनाया गया है। विनय कुमार गिल को मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक मेरठ/सहारनपुर में तैनाती मिली है। जबकि पवन कुमार सचान को पाठ्य पुस्तक अधिकारी लखनऊ तबादला हुआ है। सचिव बेसिक एचएल गुप्ता ने इस संबंध में औपचारिक आदेश जारी कर दिए हैं।



योगेंद्र कुमार सिंह को मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक फैजाबाद, विजय प्रकाश सिंह को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक आजमगढ़, गिरिजेश कुमार चौधरी को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक आगरा/अलीगढ़ और जीवेश सिंह को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक झांसी/चित्रकूट बनाया गया है। इसी तरह रमेश कुमार तिवारी को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक इलाहाबाद, विनोद शर्मा को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक गोरखपुर/बस्ती व सतीश कुमार को प्रभारी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक कानपुर में तैनाती मिली है। वहीं कमलेश बाबू को उप प्राचार्य डायट कौशांबी, अशोक कुमार को प्रभारी उप प्राचार्य डायट महाराजगंज, सत्य नारायण को प्रभारी उप प्राचार्य डायट कुशीनगर, ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया को प्रभारी उप प्राचार्य डायट कन्नौज, गंगा सिंह को प्रभारी उप प्राचार्य डायट बांदा, निशा अस्थाना को प्रभारी उप प्राचार्य डायट गाजियाबाद, संजय कुमार रस्तोगी को प्रभारी उप प्राचार्य डायट आजमगढ़, अरविंद कुमार द्विवेदी को प्रभारी उप प्राचार्य डायट मैनपुरी व मुनेश कुमार को प्रभारी उप प्राचार्य डायट बलिया में तबादला किया गया है।


खबर साभार : अमर उजाला
खबर साभार : हिंदुस्तान 


Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

समेकित शिक्षा के अन्‍तर्गत मेडिकल एसेसमेन्‍ट कैम्‍पस आयोजन के सम्‍बन्‍ध में निर्देश




Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

उर्दू शिक्षक भर्ती मे 11.08.1997 से बाद के मोअल्लिम-ए-उर्दू उपाधिधारक अमान्‍य होने के संबंध मे निर्देश









Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती प्रक्रिया उलझी

  • 4 अगस्त तक जारी होने थे नियुक्ति पत्र,लेकिन प्रत्यावेदनों का काम भी नहीं हो सकेगा पूरा
  • 72825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती के लिए लाखों आवेदन डायट मुख्यालयों पर बोरों में भरे हीलाहवाली
लखनऊ। सूबे के परिषदीय स्कूलों में 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती अब प्रत्यावेदनों में उलझ गयी है। चार जुलाई को जिले स्तर पर जारी की गयी आवेदकों की वरीयता सूची में खामियों की भरमार ने प्रत्यावेदनों का अम्बार लगा दिया है। विभागीय अफसरों को इन प्रत्यावेदनों को दुरुस्त करने में अभी से पसीना आने लगा है और बोरों में भरे प्रत्यावेदनों का डाटा 12 अगस्त तक जिलों में डायट पर तैयार हो सकेगा, इसको लेकर अभी से असमंजस की नौबत बन गयी है।

प्रदेश में प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद को दी गयी है। इसके तहत सभी कुछ काम जिलों में डायट मुख्यालयों पर किया गया। 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए 2011 में 68 लाख आवेदन पत्र आये थे। इनमें एक-एक अर्भी के 50 से ज्यादा फार्म शामिल हैं। इन फार्म की डाटा फीडिंग डायट पर बीटीसी का प्रशिक्षण करने वाले विद्यार्थियों की मदद से कराया गया।

विद्यार्थी प्रोफेशनल नहीं थे, लिहाजा आवेदन पत्रों के आधार पर तैयार की गयी वरीयता में खामियों का बोलबाला था। 4 जुलाई को जब वरीयता सूची जारी की गयी तो अभ्यर्थियों को अपनी मेरिट जानने के लिए कई दिनों का इंतजार करना पड़ा, इसके बाद पांच वेबसाइटों व कई दिनों के लम्बी प्रक्रिया के बाद प्रत्यावेदन डाउन लोड हो पाये। अब प्रत्यावेदन डायटों में बोरो में भरे हैं, हर एक अभ्यर्थी ने सभी जिलों में प्रत्यावेदन भेजे हैं, लिहाजा इनकी संख्या का वास्तविक आंकलन कर पाना विभाग के लिए भी मुश्किल हो रहा है।

प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती प्रदेश में सुप्रीम कोर्ट की मॉनीटरिंग में हो रही है, राज्य सरकार को साढ़े चार महीने की मोहलत मिली है, लेकिन इस समय-सीमा में भर्ती हो पाना लगातार टेढ़ा होता जा रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग के सचिव ने भर्ती का कैलेण्डर जारी कर दिया तो सभी कुछ लाइनअप लगने लगा, लेकिन पहला चरण 4 जुलाई को वरीयता जारी होने के बाद आगे नहीं बढ़ पाया। अभ्यर्थियों की काउंसलिंग 23 जुलाई तक हो जाती थी और पांच अगस्त तक मूल प्रमाणपत्रों का सत्यापन होना था, लेकिन अभी आरक्षण को लगाकर अंतिम वरीयता सूची ही जारी नहीं हो पायी है और प्रत्यावेदनों के भार में उलझी शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की रफ्तार ही थम सी गयी है। ऐसे में 14 अगस्त तक नियुक्ति पत्र जारी करना दूर मेरिट भी जारी होने की स्थिति नहीं बन पा रही है।

सूत्रों का कहना है कि अब डायटों को एससीईआरटी की ओर से 12 अगस्त तक डाटा फीडिंग को एनआईसी के तैयार किये गये साफ्टवेयर पर कराना है, लेकिन इसको समय से पूरा हो पाने के कोई आसार नहीं नजर आ रहे हैं।
खबर साभार : राष्ट्रीय सहारा

Enter Your E-MAIL for Free Updates :   

Liabilty Disclaimer

डिस्क्लेमर : यह न्यूज चैनल (ब्लॉग) पूर्णतयः अव्यावसायिक, अलाभकारी और पूर्णतः शिक्षक हित के लिए बिना लाभ और बिना हानि के आधार पर समर्पित है। इसमें प्रयुक्त सामग्री, सूचना, चित्र, आदेश आदि समाचार पत्रों, सरकारी साइटों, पब्लिक प्रोफाइल आदि कई स्त्रोतों से ली जाती हैं। हम ऐसे सभी स्त्रोतों के प्रति अपना आभार-साभार और कृतज्ञता व्यक्त करते हैं। हमारी कोशिश रहती है कि सूचना के सही स्त्रोत का उल्लेख किया जाए और साथ ही साथ वह सूचना/आदेश प्रत्येक दशा में सही हो। फिर भी यदि किसी को कोई आपत्ति हो तो वह पूर्ण वर्णन करते हुए संचालक को सूचित करे। आपत्ति की पुष्टि होते ही वह सूचना आदि हटा दी जायेगी। सभी से अनुरोध है कि किसी आदेश /सूचना को प्रयोग करने से पहले उसकी सत्यता स्वयं जांच लें। किसी भी अन्य स्थिति और परिस्थिति की दशा में यह ब्लॉग जिम्मेदार ना होगा। ब्लॉग मे किसी भी सामग्री पर हमारा वाटर-मार्क किसी भी रूप से हमारा मालिकाना हक जताना नहीं है बल्कि यह पुष्टि करना है कि दर्शाई /प्रयुक्त की गई सामग्री / जानकारी / खबर वास्तव मे उसी स्त्रोत से ली गई है और इसकी पुष्टि यह ब्लॉग / प्राइमरी का मास्टर करता है।

LIABILITY DISCLAIMER: It is non-govt. site. Authenticity of information is not guarantied. You are therefore requested to verify this information before you act upon it. Publisher of the site will not be liable for any direct or indirect loss arising from the use of the information and the material contained in this Web Site/Blog/News-Channel.