68500 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में फेल होकर भी शिक्षक बनने में सफल रहने वालों को जल्द ही बाहर करने की कार्यवाही होगी शुरू



68500 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में फेल होकर भी शिक्षक बनने में सफल रहने वालों को जल्द ही बाहर करने की कार्यवाही होगी शुरू।


   
प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों की 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा में फेल होकर भी शिक्षक बनने में सफल रहने वालों को जल्द ही बाहर करने की कार्यवाही शुरू होगी। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने उन्हें अनुत्तीर्ण घोषित कर दिया है, क्योंकि उनमें से अधिकांश पुनमरूल्यांकन में भी उत्तीर्ण नहीं हो सके हैं। अब बेसिक शिक्षा परिषद उन्हें नोटिस व अन्य कार्यवाही को आगे बढ़ाएगा।



बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों के लिए 68500 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में 51 ऐसे अभ्यर्थी सफल घोषित हो गए थे, जो कॉपी पर अनुत्तीर्ण थे लेकिन, रिजल्ट में उन्हें उत्तीर्ण करार दे दिया गया था। यह गड़बड़ी कॉपी से अंक चढ़ाने में हुई थी। इसका खुलासा शासन की ओर से उच्च स्तरीय जांच समिति ने किया था। पांच अक्टूबर 2018 को जारी शासनादेश में ऐसे अभ्यर्थियों की कॉपी का फिर से मूल्यांकन कराने का निर्देश दिया था, ताकि अब परिणाम देने में गलती न हो। पुनमरूल्यांकन में दो अभ्यर्थी उत्तीर्ण हो गए, बाकी सूची परीक्षा नियामक नियामक कार्यालय ने शासन को भेजी थी। यह सूची कई महीने तक शासन में पड़ी रही और अगले निर्देश का इंतजार हुआ।



अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा रेणुका कुमार ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को निर्देश दिया कि लिखित परीक्षा व पुनमरूल्यांकन में अनुत्तीर्ण रहने वालों का विस्तृत परिणाम जारी किया जाए, ताकि उन्हें बाहर किया जाए। इसका अनुपालन करते हुए परीक्षा नियामक कार्यालय ने सूची बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय व शासन को भेज दी है, जिसमें शिक्षक बनने वालों के अंकों का दर्शाया गया है। अब शासन में मंथन चल रहा है और जल्द ही बेसिक शिक्षा परिषद को निर्देश दिए जाने के संकेत हैं, इसके बाद ही नोटिस आदि जारी करके उन्हें निकालने की कार्यवाही होगी।




68500 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में फेल होकर भी शिक्षक बनने में सफल रहने वालों को जल्द ही बाहर करने की कार्यवाही होगी शुरू Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 11:01 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.