आरक्षित सीटें सामान्य करने पर भी 88 हजार सीटें खाली, डीएलएड 2019-20 सत्र में प्रवेश के लिए अभ्यर्थी नहीं मिल रहे


आरक्षित सामान्य करने पर भी 88 हजार सीटें खाली
27 Aug 2019

डीएलएड 2019-20 सत्र में प्रवेश के लिए अभ्यर्थी नहीं मिल रहे। दूसरे राउंड के सीट आवंटन के बाद ओबीसी, एससी/एसटी व विशेष आरक्षण वर्ग की सीटें सामान्य वर्ग के लिए परिवर्तित कर दी गई थी। इसके बावजूद 88 हजार से अधिक सीटें खाली रह गई हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय एलनगंज की ओर से सोमवार को अंतिम राउंड का सीट एलॉटमेंट जारी कर दिया गया।



प्रदेश के 67 डायट व 3087 निजी कॉलेजों की 229150 सीटों में से 140833 सीटों का एलॉटमेंट हुआ है। इस प्रकार एक तिहाई सीटें खाली रह गई हैं। डायट की सभी 10600 सीटें भर गई हैं। निजी कॉलेजों की सीटें रिक्त हैं। अंतिम राउंड के लिए 20430 अभ्यर्थियों ने कॉलेज का विकल्प भरा था। इनमें से 16902 को सीटें आवंटित हुई। 



3528 अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त हो गए। प्रवेश लेने की अंतिम तिथि 30 अगस्त है। प्रवेश लेने वाले अभ्यर्थियों की वास्तविक संख्या 30 अगस्त के बाद ही पता चल सकेगी। पहले राउंड में 138442 अभ्यर्थियों को सीटें आवंटित हुई थी। लेकिन इनमें से 81826 अभ्यर्थियों ने ही प्रवेश लिया था। इस लिहाज से प्रवेश लेने वाले अभ्यर्थियों की संख्या घटने की उम्मीद है।
आरक्षित सीटें सामान्य करने पर भी 88 हजार सीटें खाली, डीएलएड 2019-20 सत्र में प्रवेश के लिए अभ्यर्थी नहीं मिल रहे Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 7:15 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.