शिक्षकों की आंतरिक प्रेरणा से ही होंगे शिक्षा क्षेत्र में बदलाव, टीचर चेंजर समिट-2017 में प्रमाण पत्र देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित, नवाचारों की पुस्तिका ‘‘नवोन्मेष-2017’ का हुआ विमोचन


लखनऊ : शिक्षकों का आंतरिक प्रेरणा के साथ काम करने से ही शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव होंगे। यह बात बृहस्पतिवार को राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) तथा स्टर एजूकेशन के संयुक्त तत्वावधान में डालीबाग स्थित गन्ना संस्थान में आयोजित टीचर चेंजर समिट-2017 में मुख्य अतिथि एससीईआरटी के निदेशक डा. सव्रेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने कही। इस अवसर पर नवाचार करने वाले शिक्षकों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया तथा शिक्षकों के नवाचार की पुस्तिका ‘‘नवोन्मेष-2017’ का विमोचन किया गया।

डा. सवेन्द्र ने कहा कि शिक्षकों के प्रतिबद्ध और साझा प्रयासों से बच्चों का विकास होगा। परिषदीय शिक्षकों के प्रयासों से शिक्षण अधिगम प्रक्रिया से जुड़ी चुनौतियों के समाधान में मदद मिलेगी तथा छात्र-छात्राओं के अधिगम स्तर में सुधार के प्रयासों में सफलता मिलेगी। उन्होंने कहा शिक्षकों द्वारा किए जा रहे नवाचार बच्चों के सीखने से जुड़े हों तथा नवाचार में आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया जाए।इस दौरान स्टर एजूकेशन के राष्ट्रीय निदेशक संदीप मिश्रा ने कहा कि स्टर एजूकेशन विभिन्न राज्यों की सरकारों के साथ भागीदारी के जरिए शिक्षकों की आंतरिक प्रेरणा को सतत बनाए रखने के लिए सहयोग करता है, जिससे बच्चों की गुणवत्ता परक शिक्षा को सुनिश्चित किया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगभग बीस हजार शिक्षकों के साथ कार्यक्रम के संचालन में एससीईआरटी मदद कर रहा है।

स्टर उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त दिल्ली व कर्नाटक की सरकारों को भी सहयोग प्रदान कर रहा है।इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से एससीईआरटी व स्टर द्वारा चयनित 46 शिक्षकों के नवाचारों की पुस्तिका ‘‘नवोन्मेष-2017’ का विमोचन किया गया। इसके अतिरिक्त परिषदीय विद्यालयों में शिक्षण गतिविधियों में नवाचार करने वाले लखनऊ, कानपुर नगर, रायबरेली, उन्नाव व फैजाबाद के 502 शिक्षकों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में 148 शिक्षकों को नवाचार के लिए रोहैम्पटन यूनिवर्सिटी, लंदन का प्रमाण पत्र भी दिया गया। इस दौरान नवाचार से जुड़े शिक्षक-शिक्षिकाओं ने एक प्रदर्शनी भी लगायी। कार्यक्रम में एससीईआरटी के संयुक्त निदेशक अजय सिंह के अतिरिक्त विभिन्न जनपदों के डायट प्राचार्य, बेसिक शिक्षा अधिकारी व खण्ड शिक्षा अधिकारी उपस्थित थे।

शिक्षकों की आंतरिक प्रेरणा से ही होंगे शिक्षा क्षेत्र में बदलाव, टीचर चेंजर समिट-2017 में प्रमाण पत्र देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित, नवाचारों की पुस्तिका ‘‘नवोन्मेष-2017’ का हुआ विमोचन Reviewed by Sona Trivedi on 8:59 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.