बेसिक शिक्षकों के 68,500 पद भरने की तैयारी, बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा प्रस्ताव, भर्ती से पहले लिखित परीक्षा के प्रारूप पर डायट प्राचार्यों से मांगे सुझाव

लखनऊ : शिक्षामित्रों का समायोजन रद होने से परिषदीय स्कूलों में खाली हुए शिक्षकों के पदों में से पहले चरण में आधे को भरने का इरादा है। बेसिक शिक्षा निदेशालय ने परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के 68,500 रिक्त पदों पर भर्ती का प्रस्ताव शासन को भेजा है। इन पदों पर भर्ती के लिए शासन से अनुमति मांगी गई है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश से 1.37 लाख शिक्षामित्रों का समायोजन रद हुआ है।

■ बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा प्रस्ताव
■ लिखित परीक्षा के प्रारूप पर डायट प्राचार्यों से मांगे सुझाव

शासन ने बेसिक शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा भी आयोजित करने का फैसला किया है। लिखित परीक्षा में वही अभ्यर्थी शामिल हो सकेंगे जिन्होंने अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) उत्तीर्ण की हो। शिक्षकों की भर्ती के मद्देनजर बेसिक शिक्षा विभाग 15 अक्टूबर को टीईटी का आयोजन करा चुका है। शिक्षामित्रों का समायोजन रद होने पर उन्हें शिक्षक भर्ती में वेटेज देने और शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा भी आयोजित कराने के लिए योगी सरकार ने हाल ही में उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली में संशोधन के प्रस्ताव पर मुहर लगाई थी।


राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) ने लिखित परीक्षा का जो प्रारूप तैयार किया है, उसके मुताबिक यह परीक्षा 150 अंकों की होगी। परीक्षा के लिए ढाई घंटे का समय तय किया गया है। परीक्षा में हंिदूी, अंग्रेजी, गणित और विज्ञान में से प्रत्येक के 15 अंकों के प्रश्न होंगे। सामान्य ज्ञान और शिक्षण कौशल के लिए 30-30 अंक के सवाल होंेगे। तार्किक ज्ञान के लिए 10 और निबंध लेखन के लिए 20 अंक आवंटित किये गए हैं। इस पर डायट प्राचार्यो से सुझाव मांगे गए हैं।


बेसिक शिक्षकों के 68,500 पद भरने की तैयारी, बेसिक शिक्षा निदेशालय ने शासन को भेजा प्रस्ताव, भर्ती से पहले लिखित परीक्षा के प्रारूप पर डायट प्राचार्यों से मांगे सुझाव Reviewed by Sona Trivedi on 8:21 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.