कक्ष निरीक्षकों की अनदेखी से फेल अभ्यर्थी उत्तीर्ण, कई अभ्यर्थियों ने उपस्थिति पंजिका में दूसरे के स्थान पर किया था हस्ताक्षर, 53 चयनित हो रहे फेल, 51 रिजल्ट में अनुत्तीर्ण अभ्यर्थी कॉपी पर पास


इलाहाबाद : 68500 शिक्षक भर्ती की गड़बड़ियां सिर्फ उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन तक सीमित नहीं है, बल्कि भर्ती के प्रति अनदेखी लिखित परीक्षा से शुरू हुई। कक्ष निरीक्षकों ने अभ्यर्थियों से पंजिका में हस्ताक्षर कराने में बड़ी चूक की। कई ने अपने नाम की जगह दूसरे अभ्यर्थी के सामने वाले कॉलम में हस्ताक्षर बना दिए। इससे परीक्षा में बैठे अभ्यर्थी अनुपस्थित और गैरहाजिर बिना परीक्षा दिए ही उत्तीर्ण हो गए।
भर्ती परीक्षा का 13 अगस्त को रिजल्ट आने के बाद आगरा क्षेत्र की एक महिला अभ्यर्थी शिकायत लेकर परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पहुंची थी। स्वीकारा कि गलती से उसने दूसरे की जगह हस्ताक्षर बनाए हैं। फिर भी परीक्षा संस्था ने इस प्रकरण से सबक लेकर अन्य उत्तर पुस्तिकाओं पर गौर नहीं किया कि ऐसी गलती और केंद्रों से हो सकती है। परीक्षा की उपस्थिति पंजिका और कॉपी पर लिखे नामों का सही से मिलान न हो पाने से हाजिरी के अनुरूप कॉपियों को कोड आवंटित हुए। जांच समिति की रिपोर्ट भी इसकी पुष्टि करती है कि 53 चयनित कॉपी पर फेल हैं और रिजल्ट में अनुत्तीर्ण 51 अभ्यर्थी अच्छे अंकों से उत्तीर्ण हो रहे हैं। यही कार्य सही न करने पर परीक्षा एजेंसी को ब्लैक लिस्ट किया गया है।

एससीईआरटी के सात अफसर कौन? : जांच समिति ने एससीईआरटी के सात अफसरों पर जांच का निर्देश दिया है। इसको लेकर अब तक असमंजस है, क्योंकि एससीईआरटी में अफसरों की संख्या इतनी नहीं है।

तीन दर्जन राजकीय शिक्षक घेरे में : उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन में राजकीय शिक्षकों को लगाया गया था। जांच समिति ने करीब तीन दर्जन से अधिक शिक्षकों के मूल्यांकन सही नहीं माना है, उन्हें नोटिस देकर कार्रवाई की तैयारी है।’

कक्ष निरीक्षकों की अनदेखी से फेल अभ्यर्थी उत्तीर्ण, कई अभ्यर्थियों ने उपस्थिति पंजिका में दूसरे के स्थान पर किया था हस्ताक्षर, 53 चयनित हो रहे फेल, 51 रिजल्ट में अनुत्तीर्ण अभ्यर्थी कॉपी पर पास Reviewed by Brijesh Shrivastava on 7:02 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.