'बजट आएगा तब मिलेंगे बच्चों को मौसमी फल' - अनुपमा जायसवाल, योजना के लिए बजट का आवंटन अगस्त महीने तक ही था

लखनऊ : अखिलेश सरकार द्वारा प्राइमरी स्कूल के छात्रों को मौसमी फल बांटने की योजना अगस्त के बाद से बंद है। योजना के लिए बजट का आवंटन अगस्त महीने तक ही था। योजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। बजट मिलने ही बच्चों को फिर से स्कूल में मौसमी फल मिलने लगेंगे। यह जानकारी बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने दी।

  वह शनिवार को विधानभवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने दोनों विभागों (बेसिक शिक्षा और बाल विकास एवं पुष्टाहार) की पिछले छह महीने की उपलब्धियों की जानकारी दे रही थीं। उन्होंने बताया कि पहली बार किसी सरकार ने प्राइमरी स्कूलों के लिए टाइम टेबल तैयार करवाया है, जिसके हिसाब से बच्चों की पढ़ाई कराई जा रही है। अनुपमा जायसवाल ने बताया कि प्रदेश में कुछ प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ाई अंग्रेजी माध्यस से चल रही है। उनकी सरकार ने तय किया है कि प्रदेश के पांच हजार प्राथमिक विद्यालयों की पढ़ाई जल्द अंग्रेजी माध्यम से करवाई जाएगी। हर ब्लॉक में कम से कम पांच अच्छे प्राथमिक विद्यालयों को अंग्रेजी माध्यम किया जाएगा।

'बजट आएगा तब मिलेंगे बच्चों को मौसमी फल' - अनुपमा जायसवाल, योजना के लिए बजट का आवंटन अगस्त महीने तक ही था Reviewed by Sona Trivedi on 8:04 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.