बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने दी संघ को दी सरकारी कामकाज की रिपोर्ट, सोशल मीडिया में अनुपमा जायसवाल का पत्र वायरल, मंत्री ने पत्र को बताया फर्जी

बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने दी संघ को दी सरकारी कामकाज की रिपोर्ट, सोशल मीडिया में अनुपमा जायसवाल का पत्र वायरल, मंत्री ने पत्र को बताया फर्जी। 


लखनऊ: सोशल मीडिया पर वायरल बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल के पत्र को मुद्दा बना विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा। आरोप लगाया कि योगी सरकार के मंत्री संवैधानिक व्यवस्था को तोड़कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारियों को अपनी रिपोर्ट दे रहे है। उन्होंने आरएसएस के इशारे पर सरकार चलाने के आरोप भी लगाए।



समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने आरोप लगाया कि सरकार का रिपोर्ट आरएसएस के हाथ में होने की बात किसी से छिपी नहीं है। जैसे जैसे चुनाव निकट आता जाएगा वैसे ही सरकार के कामकाज में संघ का दखल बढ़ता जाएगा। चौधरी ने कहा कि पर्दे के पीछे से सरकार को चलाने की सच्चाई संघ को स्वीकार लेनी चाहिए। 



कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर का कहना है कि मंत्री का पत्र कोई चौंकाने वाली बात नहीं है। सरकार की रीति व नीति सब आरएसएस कार्यालय से तय होती है। जनता को भ्रम में डालने और समाज में विद्वेष फैलाने के लिए समय समय पर घटिया हथकंडे आजमाने में आरएसएस और भाजपा को महारथ हासिल रही है। रालोद के मुख्य प्रवक्ता अनिल दुबे ने आरोप लगाया कि राज्यमंत्री द्वारा संघ के पदाधिकारी को पत्र लिखकर पद एवं गोपनीयता की शपथ का उल्लंघन किया गया है। राज्यपाल रामनाईक को उक्त पत्रकी प्रामाणिकता जांचकर विधिक कार्यवाही करनी चाहिए। 



उल्लेखनीय है कि सोशल मीडिया में वायरल हो रहा पत्र आरएसएस के सह कार्यवाहक को संबोधित है और इसमें बेसिक शिक्षा मंत्री द्वारा देवरिया दौरे में विकास योजनाओं के बारे में बैठक की जानकारी दी गयी है। गत नौ अक्टूबर 2018 को लिखे पत्र में पत्रंक के साथ मंत्री के हस्ताक्षर और उनकी मुहर भी लगी है।



■ फर्जी है पत्र : अनुपमा जायसवाल

 लखनऊ : बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने पत्र को फर्जी करार देते हुए कहा कि न उन्होंने इस तरह का कोई पत्र लिखा है और न ही संघ ऐसी अपेक्षा करता है। सोशल मीडिया पर वायरल पत्र को प्रथम दृष्टया देखकर ही उसके फर्जी होने का पता चलता है। पत्र में जिस पदाधिकारी को संबोधित किया गया है उस पद नाम का कोई पदाधिकारी भी आरएसएस में नहीं होता है।


बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने दी संघ को दी सरकारी कामकाज की रिपोर्ट, सोशल मीडिया में अनुपमा जायसवाल का पत्र वायरल, मंत्री ने पत्र को बताया फर्जी Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 5:25 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.