रसूखदार स्कूलों ने आरटीआई के तहत नहीं लिए दाखिले, बेसिक शिक्षा विभाग भी ऐसे स्कूलों के खिलाफ नहीं कर रहा कार्यवाही

रसूखदार स्कूलों ने आरटीआई के तहत नहीं लिए दाखिले, बेसिक शिक्षा विभाग भी ऐसे स्कूलों के खिलाफ नहीं कर रहा कार्यवाही

रसूखदार स्कूलों ने आरटीई के तहत नहीं लिए दाखिले
October 27, 2019  
जासं, लखनऊ : राजधानी के रसूखदार स्कूल और उनके प्रबंधन ने बेसिक शिक्षा विभाग को आखिरकार ठेंगा दिखा दिया। समय सीमा समाप्त होने के बाद भी उन्होंने गरीब बच्चों के तहत आरटीई के तहत दाखिले अपने विद्यालयों में नहीं लिए। स्कूलों की मनमानी के कारण करीब चार हजार बच्चों के दाखिले नहीं हो सकें। वहीं, बेसिक शिक्षा विभाग उन्हें सिर्फ नोटिस देकर चुप्पी साध ली।

इनको जारी की गई नोटिस :लखनऊ पब्लिक स्कूल, बाल विद्या मंदिर, सिटी मांटेसरी स्कूल, जयपुरिया पंडित खेड़ा, न्यू पब्लिक स्कूल, शिशु विद्या पीठ सआदतगंज, सिटी इंटरनेशनल इंदिरानगर, लखनऊ पब्लिक कॉलिजिएट, हैमिल्टन अकादमी समेत 27 विद्यालयों को बीएसए ने कारण बताओ नोटिस जारी की है।

अभिभावक बीएसए ऑफिस के काट रहे चक्कर : शिक्षा का अधिकार (आरटीई) के तहत मुफलिसी में जी रहे बच्चों को होनहार बनाने के लिए निजी स्कूलों में उनका दाखिला कराया जाना था। दाखिले की सारी आहर्ताएं पूरी होने एवं दाखिले की सूची में भी नाम आने के बाद बच्चों के अभिभावक महीनों से बीएसए कार्यालय से ब्लाक और जिलाधिकारी कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। उन्हें एक कमरे से दूसरे कमरे और ब्लाक में दौड़ाया जा रहा है।

रसूखदार स्कूलों ने आरटीआई के तहत नहीं लिए दाखिले, बेसिक शिक्षा विभाग भी ऐसे स्कूलों के खिलाफ नहीं कर रहा कार्यवाही Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:40 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.