बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से बदलेगी परिषदीय विद्यालयों की तस्वीर : मिशन शिक्षण संवाद सेमिनार में प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित

सिद्धार्थनगर : प्रदेश के विभिन्न जनपदों में शैक्षिक नवाचार से बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने लगी है। वह दिन दूर नहीं जब प्राइमरी स्कूल भौतिक संसाधनों तथा गुणवत्ता पूर्ण शैक्षिक वातावरण के बल पर महंगे प्राइवेट स्कूलों से आगे दिखाई देंगे।

उपरोक्त बातें सांसद जगदंबिका पाल ने कही। वह शनिवार को कपिलवस्तु महोत्सव अंतर्गत लोहिया कला भवन में आयोजित दो दिवसीय शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। नवाचारी शिक्षकों की प्रशंसा करते हुए सफल आयोजन के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं मिशन शिक्षण संवाद टीम की मुक्त कंठ से सराहना की। सदर विधायक श्याम धनी राही ने शैक्षिक सुधारों के लिए सरकार और मुख्यमंत्री के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए शिक्षकों से नवाचारी शिक्षकों से प्रेरणा लेकर बेहतर कार्य करने को प्रेरित किया। डुमरियागंज के विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार को कपिलवस्तु महोत्सव का सबसे उत्कृष्ट आयोजन बताया। कहा कि जूता-मोज़ा वितरण के पश्चात अगले सत्र में सरकारी स्कूलों में फ़र्नीचर की व्यवस्था की जाएगी, जिसके संबंध में मुख्यमंत्री से उनकी बात हो चुकी है। श्री सिंह ने उपस्थित सांसद और मुख्य विकास अधिकारी से अपने क्षेत्र के स्कूलों को गोद लेकर वहां बुनियादी सुविधाओं के प्रबंध का अनुरोध भी किया।



कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सहायक शिक्षा निदेशक डा. सत्य प्रकाश त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार मिश्र, बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह व डायट प्राचार्य के.सी. भारती ने समस्त नवाचारी शिक्षकों और मिशन शिक्षण संवाद टीम के सदस्यों की सराहना करते हुए अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया। अंत में समस्त नवाचारी शिक्षकों को सांसद ने प्रशस्ति-पत्र एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। सफल संचालन नियाज़ कपिलवस्तुवी ने किया।



मिशन शिक्षण संवाद टीम के विमल कुमार, ज्योति, डा. ख़ुर्शीद, सर्वेष्ट मिश्र, प्राशिसं के ज़िलाध्यक्ष राधेरमण त्रिपाठी, जिला मंत्री योगेन्द्र पांडेय, उदयभान मिश्र, कैलाश मणि त्रिपाठी, नफ़ीस हैदर रिज़्वी, मुश्तन शेरूल्लाह, शैलेन्द्र मिश्र, अंब्रीश श्रीवास्तव, अंशुमान सिंह, उपेन्द्र उपाध्याय, महेश कुमार, दुर्गेश मिश्र एवं समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों सहित बड़ी तादाद में शिक्षकों की उपस्थिति रही।



बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से बदलेगी परिषदीय विद्यालयों की तस्वीर : मिशन शिक्षण संवाद सेमिनार में प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित Reviewed by Praveen Trivedi on 9:23 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.