अभी तक मिड डे मील से गायब थी हरी सब्जी, MDM में शामिल होंगी हरी व पौष्टिक सब्जियां, अब लौकी तरोई जैसी हरी सब्जियां खाएंगे बच्चें


अभी तक एमडीएम में दो दिन तहरी, एक दिन दाल-रोटी, दो दिन चावल या रोटी के साथ सोयाबीन वाली दाल या सब्जी दी जाती है। .

इसमें तहरी में सब्जियां डालने का नियम है लेकिन पैसे की कमी के चलते इसमें भी ज्यादातर आलू ही डाला जाता है। लिहाजा बच्चों की थाली से सब्जियां गायब रहती थीं। लेकिन अब इस दिशा में सरकार कदम उठा रही है। राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखण्ड और हिमाचल प्रदेश में भी सरकार स्कूलों में किचन गार्डन बनवा रही है। .

राज्य मुख्यालय | शिखा श्रीवास्तव.

.

अब सरकारी स्कूलों के बच्चे भी लौकी, तरोई, पालक, भिण्डी जैसी हरी पौष्टिक सब्जियां खाएंगे। इन्हें आर्गेनिक तरीके से उगाया भी जाएगा। मिड डे मील प्राधिकरण इस सत्र में 28,671 स्कूलों में किचन गार्डन बनाएगा। अभी तक मिड डे मील की थाली से हरी सब्जियां गायब थीं। .

इसके लिए स्कूलों के खाली पड़े मैदान में किचन गार्डन बनाया जाएगा। ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकार ने इस दिशा में कोई पहल की है। शासन ने हर जिले से ऐसे सरकारी स्कूलों के नाम मांगे थे जहां जगह छूटी हो और वहां किचन गार्डन बनाया जा सके। इसके बाद 28,671 स्कूलों में किचन गार्डन बनाने का फैसला हुआ है। किचन इसे बनाने के लिए उद्यान व खाद्य प्रसंस्करण विभाग व कृषि विज्ञान केन्द्र की मदद ली जाएगी। .

अभी प्रदेश के 2226 स्कूलों में किचन गार्डन हैं और 1272 स्कूलों में बनाए जा रहे हैं लेकिन ये किचन गार्डन स्कूल के प्रधानाचार्य, विद्यालय प्रबंध समिति, शिक्षक या ग्राम प्रधान की आपसी समझ-बूझ व सहयोग से बनाए गए हैं। अभी तक इसे लगाने के लिए सरकार ने कोई पहल नहीं की थी। इन किचन गार्डनों में मौसमी सब्जियां उगाई जाएंगी ताकि छात्रों मिड डे मील में ताजा सब्जियां खाने को मिल सकें। वहीं बच्चों का ज्ञानवर्धन हो सकेगा। .

अभी तक मिड डे मील से गायब थी हरी सब्जी, MDM में शामिल होंगी हरी व पौष्टिक सब्जियां, अब लौकी तरोई जैसी हरी सब्जियां खाएंगे बच्चें Reviewed by Ram Krishna mishra on 7:26 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.