शिक्षक की बहाली को लेकर संतकबीर नगर के बीससए गजराज यादव 20 हजार की घूस लेते हुए विजिलेंस के हाथों हुए गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज लेकिन खुद को बताया बेकसूर

संतकबीर नगर​ : संतकबीर नगर जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी गजराज यादव को 20 हज़ार रुपए रिश्वत लेते हुए गोरखपुर की व‍िज‍िलेंस टीम ने रंगे हाथ गिताफ्तार कर जेल भेज दिया। नवीन त्रिपाठी नाम के शिक्षक जो ज़िले के केचुआखोर परिषदीय विद्यालय में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात थे। इन्हें विद्यालय में गंदगी और गैहाज़िर होने को लेकर बीएसए गजराज यादव ने सस्पेंड कर दिया था और अध्यापक नवीन त्रिपाठी की बहाली करने के लिए बीएसए बारबार पैसे की डिमांड कर रहे थे।

 

 

इसकी शिकायत पीड़ित शिक्षक ने गोरखपुर बिजलेंस टीम से सम्पर्क कर पूरी बात बताई। इसके बाद बिजनेस टीम ने बीएसए को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बिछाया और बीएसए गजराज यादव को उन्हीं के आवाज पर शिक्षक के हाथ से 20 हज़ार रुपए रिश्वत लेते रंगेहाथ व‍िज‍िलेंस टीम ने गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल बीएसए के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगे की करवाई की जा रही है। व‍िज‍िलेंस टीम अधिकारी ने बताया कि बीएसए के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है,जिन्हें जेल भेजा जाएगा। वही आरोपी बेसिक शिक्षा अधिकारी गजराज यादव पूरे मामले को फ़र्ज़ी बताते हुए कहा कि मुझे फसाया गया है और मैं बेगुनाह हूं।


शिक्षक की बहाली को लेकर संतकबीर नगर के बीससए गजराज यादव 20 हजार की घूस लेते हुए विजिलेंस के हाथों हुए गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज लेकिन खुद को बताया बेकसूर Reviewed by Sona Trivedi on 9:48 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.