एक भर्ती ऐसी भी : नियुक्ति पत्र नहीं मिल रहा, और भर्ती जारी, रह-रहकर कटऑफ भी जारी हो रहे हैं, लेकिन प्रक्रिया बेहद धीमी और नियुक्ति पत्र भी नहीं बांटा जा रहा

इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों में 72825 शिक्षकों की भर्तियां दो साल से चल रही हैं। वह कब तक पूरी होंगी, यह ऐसा सवाल है कोई जवाब देना ही नहीं चाहता। इस बहुचर्चित शिक्षक भर्ती में अब भी तमाम जिलों में पद रिक्त हैं। रह-रहकर कटऑफ भी जारी हो रहे हैं, लेकिन प्रक्रिया बेहद धीमी है। इधर कई जिलों में काउंसिलिंग होने के बाद पात्र अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र भी नहीं बांटा जा रहा है। वहीं, दूसरी ओर इस भर्ती के बाद शुरू हुई अन्य शिक्षक भर्तियों में सारे पद भर चुके हैं और नई-नई भर्तियों का एलान भी हो रहा है।

बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में इधर के वर्षो में सबसे अधिक चर्चा 72825 शिक्षकों की नियुक्तियों को लेकर रही है। इसमें बीएड एवं टीईटी उत्तीर्ण युवाओं को मेरिट के आधार पर नियुक्ति दी गई। 2014 में शुरू हुई प्रक्रिया अब तक पूरी नहीं हो सकी है। इसके लिए प्रदेश स्तर पर कटऑफ जारी किया था। शुरुआत में युवा इस भर्ती में नियुक्ति पाने के लिए हाथ-पांव मार रहे थे, लेकिन इधर नियुक्तियां की रफ्तार बहुत धीमी हो गई है। अब रह-रहकर अलग-अलग जिलों का कटऑफ जारी हो रहा है। इससे वह युवा परेशान हैं जिनका शिक्षक पात्रता परीक्षा का प्रमाणपत्र एक्सपायर्ड होने वाला है।

असल में इस भर्ती में अधिकांश दावेदारों ने टीईटी 2011 उत्तीर्ण की है। टीईटी प्रमाणपत्र की वैधता पांच साल है और वह 13 नवंबर 2016 को पूरी हो रही है, लेकिन भर्ती पूरा होने का नाम नहीं ले रही है। शीर्ष कोर्ट ने सात दिसंबर 2015 को भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के लिए 12091 अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने पर विचार करने को कहा था इसके लिए अलग से काउंसिलिंग भी कराई गई, लेकिन मेरिट इतना अधिक रही कि कुछ पद ही भरे जा सके।

एक भर्ती ऐसी भी : नियुक्ति पत्र नहीं मिल रहा, और भर्ती जारी, रह-रहकर कटऑफ भी जारी हो रहे हैं, लेकिन प्रक्रिया बेहद धीमी और नियुक्ति पत्र भी नहीं बांटा जा रहा Reviewed by Praveen Trivedi on 5:47 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.