शिक्षकों व छात्रों की नियमित उपस्थिति की निगरानी बॉयोमेट्रिक प्रणाली के जरिए करने का निर्देश, कोचिंग चलाने वाले सरकारी शिक्षकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने का निर्देश

लखनऊ : राज्य की शिक्षा व्यवस्था में काफी सुधार की आवश्यकता बताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोचिंग चलाने वाले सरकारी शिक्षकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने का निर्देश दिया है। वहीं नकल पर पूरी तरह लगाम कसने के लिए उन्होंने दागी परीक्षा केंद्रों को चिन्ह्ति कर ब्लैक लिस्ट करने के साथ उनके खिलाफ एफआइआर भी दर्ज कराने के लिए कहा।




वह सोमवार को शास्त्री भवन में बेसिक, माध्यमिक, उच्च, प्राविधिक, व्यावसायिक व कृषि शिक्षा विभागों की ओर से किये गए प्रस्तुतीकरणों को देखने के साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ शैक्षिक परिदृश्य में सुधार पर चर्चा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था का स्तर सुधारने के लिए नकल माफिया से निपटना आवश्यक है। इसके लिए सरकार सभी प्रभावी कदम उठाएगी।




उन्होंने विद्यालयों में हर हाल में अधिकतम 200 दिनों में कोर्स पूरा कराने के लिए कहा। सभी विद्यालयों में शिक्षकों व छात्रों की नियमित उपस्थिति की निगरानी बायोमीटिक प्रणाली के जरिए करने का निर्देश दिया। उन्हांेने परीक्षाओं को 15 दिन में पूरा करके अगले 15 दिन के अन्दर उनके परिणाम देने की सम्भावना तलाशने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए।

शिक्षकों व छात्रों की नियमित उपस्थिति की निगरानी बॉयोमेट्रिक प्रणाली के जरिए करने का निर्देश, कोचिंग चलाने वाले सरकारी शिक्षकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने का निर्देश Reviewed by Sona Trivedi on 6:09 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.