हर माह बच्चों का पठन-पाठन तय, शैक्षिक कैलेंडर जारी  करते हुए पाठ्यक्रम पूरा कराने और  शैक्षिक कैलेंडर का प्रभावी क्रियान्वयन करने के कड़े निर्देश

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में नया शैक्षिक सत्र शुरू हो चुका है। पांच दिन बाद परिषद ने शैक्षिक कैलेंडर जारी कर दिया है। इसमें कक्षा एक से पांच और छह से आठ तक के बच्चों को हर माह क्या पढ़ाया जाना है यह तय हो गया है। पाठ्यक्रम पूरा कराने, शैक्षिक कैलेंडर का प्रभावी क्रियान्वयन करने के कड़े निर्देश दिए गए हैं। यही नहीं शैक्षिक गुणवत्ता दुरुस्त रखने का जिम्मेदार खंड शिक्षा अधिकारी को बनाया गया है। 



क्लिक करके देखें: 

⚫ सत्र 2017-18 के लिये प्राथमिक विद्यालयों  (कक्षा 1 से 5 तक) का  शैक्षिक कैलेंडर जारी, देखें, डाउनलोड करें व प्रिंट करें



परिषदीय विद्यालयों में एक अप्रैल से नया शैक्षिक सत्र शुरू हो चुका है। गुरुवार को शैक्षिक कैलेंडर जारी करते हुए परिषद सचिव संजय निर्देश ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया कि कैलेंडर तत्काल विद्यालयों में पहुंचा करके उसका अनुपालन शुरू कराएं। सचिव ने बताया कि विद्यालयों में शैक्षिक कैलेंडर के अनुरूप पठन-पाठन हो रहा है या नहीं यह जानने के लिए सतत रूप से निरीक्षण की कार्यवाही की जाएगी। इसके लिए खंड शिक्षा अधिकारी को विकासखंड के सभी विद्यालयों में पठन-पाठन दुरुस्त कराने का उत्तरदायी माना जाएगा। सचिव ने निर्देश दिया है कि हर खंड शिक्षा अधिकारी माह में न्यूनतम 20 विद्यालयों का निरीक्षण करें और अपनी आख्या जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को उपलब्ध कराएगा। 



क्लिक करके देखें: 

⚫ सत्र 2017-18 के लिये उच्च प्राथमिक विद्यालयों  (कक्षा 6 से 8 तक) का  शैक्षिक कैलेंडर जारी, देखें, डाउनलोड करें व प्रिंट करें



सचिव ने निर्देश दिया है कि विद्यालय का निरीक्षण शैक्षिक होगा। खंड शिक्षा अधिकारी हर कक्षा में शैक्षिक कैलेंडर के अनुरूप पाठ्यक्रम के पूर्ण होने व उत्तर पुस्तिकाओं की जांच होने व बच्चों को कितना समझ में आया इसका मूल्यांकन कर आवश्यक दिशा-निर्देश देगा। 1सचिव ने कहा कि निरीक्षण के संबंध में खंड शिक्षा अधिकारी की लापरवाही या फिर शिथिलता मिलने पर या विकासखंड में शैक्षिक गुणवत्ता स्तर न्यून होने पर उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा विद्यालयों की शैक्षिक गुणवत्ता जांचने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी व मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक भी विद्यालयों में वृहद स्तर पर निरीक्षण करेंगे और उससे परिषद को अवगत कराएंगे। सचिव ने खंड शिक्षा अधिकारियों के निरीक्षण का प्रोफार्मा भी तय कर दिया है और उसे सभी जिलों में भेज दिया गया है। इसमें यह भी निर्देश है कि खंड शिक्षा अधिकारी विद्यालय में शैक्षिक प्रगति की स्थिति, मूल्यांकन आदि टिप्पणी खुद अपनी हस्तलिपि में दर्ज करेगा।

हर माह बच्चों का पठन-पाठन तय, शैक्षिक कैलेंडर जारी  करते हुए पाठ्यक्रम पूरा कराने और  शैक्षिक कैलेंडर का प्रभावी क्रियान्वयन करने के कड़े निर्देश Reviewed by Sona Trivedi on 6:23 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.