अगली शिक्षक भर्ती की परीक्षा संस्था बदलने के आसार, मुख्यमंत्री के सख्त तेवर के चलते जल्द ही निर्णय हो सकता

अगली शिक्षक  भर्ती की परीक्षा संस्था बदलने के आसार, मुख्यमंत्री के सख्त तेवर के चलते जल्द ही निर्णय हो सकता

इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती की अगली लिखित परीक्षा का जिम्मा किसी अन्य संस्था को मिलने के आसार हैं। 68500 भर्ती के परिणाम में व्यापक गड़बड़ियां सामने आने के बाद पहले अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर खफा हुए, अब विभागीय अफसर भी नाराज हो गए हैं।

मुख्यमंत्री के सख्त तेवर को देखते हुए इस पर जल्द ही निर्णय हो सकता है। परीक्षा सिर पर है, यदि किसी वजह से संस्था में बदलाव नहीं हो पाता है तो परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव व अन्य अफसरों के चेहरे जरूर बदल जाएंगे। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शीर्ष कोर्ट के निर्देश पर एक लाख 37 हजार समायोजित शिक्षामित्रों के पदों पर चयन होना है। 68500 पदों की पहली शिक्षक भर्ती में करीब 41 हजार पद ही भरे जा सके हैं, ऐसे में करीब 97 हजार की दूसरी शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा दिसंबर माह में होनी है।


इसके लिए परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को ही अब तक दिशा निर्देश दिए जा रहे थे लेकिन, हाल में ही जिस तरह के मामले सामने आए हैं, उससे पूरी भर्ती संस्था सवालों के घेरे में है। पिछली बार ही पहले बेसिक शिक्षा परिषद से यह इम्तिहान कराने को कहा गया लेकिन, परिषद की ओर से कहा गया कि वह परीक्षा संस्था नहीं है। अब फिर परिषद को यह इम्तिहान कराने पर नए सिरे से चर्चा होगी।


शिक्षक भर्ती मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव पर गिर सकती है शासन की गाज। 


अगली शिक्षक भर्ती की परीक्षा संस्था बदलने के आसार, मुख्यमंत्री के सख्त तेवर के चलते जल्द ही निर्णय हो सकता Reviewed by प्राइमरी का मास्टर on 6:55 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.