शैक्षिक सत्र 2024-25 में विद्यालय स्तर से प्रदेश स्तर तक बालक-बालिकाओं के खेलकूद कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं के आयोजन के सम्बन्ध में

परिषदीय स्कूलों में 17 तरह की खेल प्रतियोगिताओं का कैलेंडर जारी

लखनऊ : परिषदीय स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए 17 तरह की खेल प्रतियोगिताओं का कैलेंडर जारी कर दिया गया है। स्कूल, न्याय पंचायत, ब्लाक, जिला, मंडल और राज्य स्तरीय प्रतियोगिताएं जुलाई के तीसरे सप्ताह से शुरू होंगी और 30 नवंबर को खत्म होंगी।

बेसिक शिक्षा निदेशक प्रताप सिंह बघेल की ओर से सभी जिलों के बेसिक शिक्षाधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। सभी 1.34 लाख परिषदीय विद्यालयों को के लिए 10-10 हजार रुपये की धनराशि पहले ही दी जा चुकी है। हाकी, तैराकी, कुश्ती, हैंडबाल, वालीबाल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, फुटबाल, जूडो, खो-खो, ,एथलेटिक्स जिमनास्टिक, क्रिकेट, कबड्डी, ताइक्वांडो, योगासन और इसके साथ-साथ नृत्य व गायन स्तर की प्रतियोगिताएं होंगी।

ये प्रतियोगिताएं, बालक व बालिका वर्ग की होंगी। सभी जिलों में टीमें गठित करने के निर्देश दिए गए हैं। विद्यालयों में प्रतिदिन खेलकूद की गतिविधियां आयोजित होंगी। सप्ताह में चार दिन विभिन्न खेल व व्यायाम और दो दिन स्काउट-गाइड की गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। 

खेल इंडिया एप सभी प्रधानाध्यापक डाउनलोड करेंगे और विद्यार्थियों का मूल्यांकन कर उसकी रिपोर्ट देंगे. 11 वर्ष तक की आयु के विद्यार्थी प्राथमिक स्तर के लिए और 11 से 14 वर्ष तक की आयु के विद्यार्थियों को जूनियर स्तर की टीम में रखा जाएगा। राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में टीम प्रतिस्पर्धा में 10 अंकों में और व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा में पांच अंकों में मूल्यांकन किया जाएगा।



खेलकूद में भी दक्ष होंगे स्कूली बच्चे, विद्यालय से प्रदेश स्तर पर होंगी खेलकूद प्रतियोगिताएं, 

परिषदीय विद्यालयों का जुलाई से 30 नवंबर तक का विस्तृत कार्यक्रम जारी


लखनऊ। प्रदेश में परिषदीय विद्यालयों के बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद में भी दक्ष बनाया जाएगा। इसके लिए विद्यालयों में खेलकूद की विविध गतिविधियां होंगी। साथ ही, विद्यालय से लेकर प्रदेश स्तर पर प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाएगा। विभाग ने इस बाबत सभी विद्यालयों को बजट दे दिया है।


बेसिक शिक्षा विभाग के  मुताबिक कक्षा एक से आठ तक के बच्चों के लिए हॉकी, तैराकी, कुश्ती, हैंडबाल, वालीबॉल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, क्रिकेट, जिमनास्टिक, कबड्डी, योगासन, व्यायाम, खो-खो, ताइक्वांडो के साथ-साथ लोकगीत, लोकनृत्य, अंताक्षरी आदि प्रतियोगिताएं होंगी। इनका आयोजन जुलाई से सितंबर के बीच अलग-अलग वर्ग में विद्यालय, न्याय पंचायत, ब्लॉक, जिला व मंडल स्तर पर होगा।


बेसिक शिक्षा निदेशक प्रताप सिंह बघेल के अनुसार 30 नवंबर तक प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। उन्होंने सभी मंडलीय सहायक निदेशक व बीएसए को निर्देश दिया है कि खेलकूद को हर दिन की गतिविधियों में शामिल किया जाए। खेल सामग्री खरीद कर विद्यालय की खाली पड़ी जमीन को खेल परिसर के रूप में प्रयोग करें। खेलो इंडिया एप डाउनलोड कर बच्चों का मूल्यांकन कराया जाए। जहां शारीरिक शिक्षक नहीं है, वहां खेल में रुचि रखने वाले शिक्षक को जिम्मेदारी दी जाए।


उन्होंने यह भी कहा है कि विद्यालय से राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में खेल एसोसिएशन व खेल विभाग के विशेषज्ञों और सेवानिवृत्त लोगों को भी जोड़ा जाए। दिव्यांग बच्चों के लिए अलग से प्रतियोगिताएं कराई जाए। वहीं, मेजर ध्यानचंद की जयंती 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस पर विभिन्न प्रतियोगिताएं के विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया जाए।




शैक्षिक सत्र 2024-25 में विद्यालय स्तर से प्रदेश स्तर तक बालक-बालिकाओं के खेलकूद कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं के आयोजन के सम्बन्ध में


शैक्षिक सत्र 2024-25 में विद्यालय स्तर से प्रदेश स्तर तक बालक-बालिकाओं के खेलकूद कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं के आयोजन के सम्बन्ध में Reviewed by प्राइमरी का मास्टर 2 on 5:37 AM Rating: 5

No comments:

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.