बेसिक शिक्षा विभाग ने पंचायती राज विभाग और यूनिसेफ के साथ मिलकर कवायद की शुरु, बालिका शिक्षा के उजियारे से चमकेंगी सभी ग्राम पंचायतें

सर्व शिक्षा अभियान के तहत हर जिले में एक न्याय पंचायत को बालिका शिक्षा की दृष्टि से शत-प्रतिशत शिक्षा से आच्छादित होने का प्रमाणपत्र दिया जाएगा। बेसिक शिक्षा विभाग ने पंचायती राज विभाग और यूनिसेफ के साथ मिलकर कवायद शुरू की है। इस पूरे अभियान के दौरान स्कूलों में बालिकाओं के नामांकन एवं ठहराव पर सर्वाधिक फोकस किया जाएगा।सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक डॉ. वेदपति मिश्र और निदेशक पंचायती राज विभाग विजय किरन आनंद ने छह नवंबर को सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों और जिला पंचायती राज अधिकारियों को पत्र लिखकर शत-प्रतिशत शिक्षा से आच्छादित ग्राम पंचायतें विकसित करने के निर्देश दिए हैं। बीएसए संजय कुमार कुशवाहा ने कहा कि इस संबंध में 15 नवंबर तक जनपद स्तर पर बैठक कार्ययोजना को अंतिम रूप दिया जाएगा।शत-प्रतिशत शिक्षा से आच्छादन की घोषणा व सत्यापन: अप्रैल के दूसरे सप्ताह में पंचायत के ग्राम प्रधान, सभी परिषदीय, मान्यता प्राप्त विद्यालयों व मदरसों के प्रधानाध्यापक व प्रबंध समिति के अध्यक्ष बैठक कर प्रत्येक मानक पर अपनी आख्या तैयार कर यह घोषणा करेंगे कि उनकी पंचायत शत-प्रतिशत शिक्षा से आच्छादित ग्राम पंचायत है। जिला समन्वयक बालिका शिक्षा सत्यापित घोषणा प्रारूप को बीएसए व जिला पंचायत राज अधिकारी के समक्ष रखेंगे। बीएसए व जिला पंचायत राज अधिकारी दो बाह्य विशेषज्ञों (स्थानीय शिक्षाविद, सेवानिवृत्त शिक्षक, शिक्षा विभाग के अधिकारी, शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत स्वैच्छिक संस्थाएं या जिलाधिकारी की ओर से नामित किसी प्रतिनिधि) की समिति बना घोषणा प्रारूप का सत्यापन कराएंगे। इसके बाद ग्राम पंचायत को शतप्रतिशत शिक्षा से आच्छादित होने का प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

’स्कूलों में बालिकाओं के नामांकन, ठहराव के लिए गंभीरता से प्रयास शुरू’सर्व शिक्षा अभियान, पंचायती राज विभाग और यूनिसेफ ने बनाई योजना’शिक्षा से आच्छादित ग्राम पंचायतें विकसित करने की कवायद’सत्यापन बाद बीएसए व जिला पंचायती राज अधिकारी देंगे प्रमाणपत्र

’ ग्राम पंचायत के 6 से 14 आयवर्ग के सभी बच्चे स्कूल में नामांकित हों’ सभी बच्चे नियमित स््रकूल जाते हों (80 से 100} के बीच उपस्थिति)’ बाल मैत्री अधिगम प्रक्रिया के तहत स्कूल में गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान की जा रही हो’ सभी बच्चे शैक्षिक सत्र को पूरा करें (मध्यवार्षिक व वार्षिक परीक्षा में शत-प्रतिशत उपस्थिति हो)

बेसिक शिक्षा विभाग ने पंचायती राज विभाग और यूनिसेफ के साथ मिलकर कवायद की शुरु, बालिका शिक्षा के उजियारे से चमकेंगी सभी ग्राम पंचायतें Reviewed by Ram Krishna mishra on 7:37 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.