सूबे के सहायता प्राप्त स्कूलों के सरप्लस शिक्षकों का वेतन रोका


  • जिला स्तर पर हुई जांच में सरप्लस शिक्षकों की भर्ती की पुष्टि
लखनऊ । सूबे के सहायता प्राप्त स्कूलों में जरूरत से अधिक रखे गए शिक्षकों की जल्द छुट्टी होगी। इन स्कूलों में सरप्लस शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया है। अब बेसिक के एडेड स्कूलों में ऐसे शिक्षकों की गिनती कराई जा रही है।
राज्य सरकार समय-समय पर मान्यता प्राप्त निजी स्कूलों को अनुदान पर लेती है। अनुदानित स्कूलों में अध्यापक सेवा नियमावली के आधार पर शिक्षकों की भर्ती करने की व्यवस्था है। इसके तहत बेसिक के सहायता प्राप्त स्कूलों में छात्र अनुपात के आधार पर शिक्षक रखे जा सकते है। इसके बावजूद स्कूल प्रबंधन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से शिक्षकों की अनियमित तरीके से भर्तियां की जा रही हैं। इसकी वजह से शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को आए दिन कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने पड़ते हैं। बेसिक शिक्षा विभाग के सहायता प्राप्त स्कूलों में शिक्षक भर्ती पर रोक है। फिर भी कुछ जिलों में चोरी-छिपे बीएसए की मिलीभगत से शिक्षकों की भर्तियां कर ली गई हैं। कुछ जिलों में तो स्वीकृत पद से अधिक शिक्षकों की भर्तियां की गई हैं। जिला स्तर पर इसकी जांच भी हो चुकी है। जैसे जौनपुर एक स्कूल में स्वीकृत पद से 10 शिक्षक अधिक रख लिए गए हैं तो बलिया के एक स्कूल में स्वीकृत पांच पद सापेक्ष में दस शिक्षक रखे गए हैं। इसके बाद सरप्लस शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया। इससे शिक्षक संघ आंदोलित हैं।
(साभार-:-अमर उजाला)

सूबे के सहायता प्राप्त स्कूलों के सरप्लस शिक्षकों का वेतन रोका Reviewed by BRIJESH SHRIVASTAVA on 7:54 AM Rating: 5

1 comment:

Anonymous said...

aided junior high school ki bharti par rok kab hategi.

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.