बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन ने बीएसए दफ्तरों को बताया भ्रष्टाचार के अड्डे, सुधार न करने पर दी बीएसए बदलने की चेतवानी, एक हफ्ते में अंतर्जनपदीय तबादले और शिक्षक उपस्थिति के लिए निरीक्षण पर दिया जोर

लखनऊ : बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन ने बुधवार को विभागीय समीक्षा बैठक में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। कहा कि बीएसए दफ्तर भ्रष्टाचार के अड्डे हैं। उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि अब तक उन्होंने 35 बीएसए हटाये हैं। यदि बीएसए नहीं सुधरे तो सभी जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारी बदल दिये जाएंगे। यह भी कहा कि अगली मासिक समीक्षा बैठक तक बीएसए अपनी आदतों में पूरी तरह सुधार ले आएं या दंड के लिए तैयार रहें।
आवास विकास परिषद के नवीन भवन सभागार में आयोजित बैठक में मंत्री ने कहा कि उन्होंने कुछ परिषदीय स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया है और वहां घोर अव्यवस्था पायी है। तमाम सुविधाएं देने के लिए परिषदीय स्कूलों में बच्चों की संख्या कम हो रही है। इसकी बड़ी वजह यह है कि शिक्षक स्कूल नहीं जाते।
उन्होंने सभी बीएसए को अभियान चलाकर स्कूलों का निरीक्षण करने के लिए कहा। यह भी निर्देश दिया कि जिन स्कूलों में शिक्षक लंबे समय से गायब हैं, उन्हें चिन्हित कर दस दिनों के अंदर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। सभी बीएसए को उन्होंने स्कूलों में शिक्षकों और बच्चों की उपस्थिति की नियमित जांच करने का निर्देश दिया।
मंत्री ने एक हफ्ते के अंदर शिक्षकों के अंतर जिला तबादले की प्रक्रिया पूरी करने का निर्देश दिया। बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री वसीम अहमद,सचिव बेसिक शिक्षा अजय सिंह, कैलाश चौरसिया, सभी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक और विभाग के अधिकारी मौजूद थे।



बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन ने बीएसए दफ्तरों को बताया भ्रष्टाचार के अड्डे, सुधार न करने पर दी बीएसए बदलने की चेतवानी, एक हफ्ते में अंतर्जनपदीय तबादले और शिक्षक उपस्थिति के लिए निरीक्षण पर दिया जोर Reviewed by Praveen Trivedi on 6:11 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.