दीपावली नहीं मनाएंगे प्रशिक्षु शिक्षक और बीटीसी प्रशिक्षु : मौलिक नियुक्ति देने की मांग को लेकर बैठे धरने पर, बीटीसी प्रशिक्षु भी बड़ी भर्ती के लिए लगातार आंदोलित

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में याची से प्रशिक्षु शिक्षक बने 839 युवा इस बार दीपावली का त्योहार नहीं मनाएंगे। इन प्रशिक्षुओं को शासन ने मौलिक नियुक्ति देने से रोका है। अब परिषद इन शिक्षकों के संबंध में शासन से आदेश मिलने के बाद ही आगे बढ़ाएगा। प्रभावित शिक्षक इस संबंध में शासनादेश जारी करने की मांग को लेकर निदेशालय में धरने पर बैठ गए हैं। 


बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति पाने के लिए तमाम युवाओं ने न्यायालय में याचिका दाखिल कर रखी थी। सात दिसंबर 2015 में शीर्ष कोर्ट ने निर्देश दिया था कि यदि याचिका करने वाले युवा शिक्षक बनने की अर्हता रखते हैं तो उन्हें तैनाती दी जाए। कोर्ट में उस समय याचिका करने वालों की संख्या 1100 बताई गई थी। इसके अनुपालन में परिषद ने 862 युवाओं को तदर्थ शिक्षक के रूप में तैनाती दे दी थी, क्योंकि तब तक इतने ही आवेदन प्राप्त हो सके थे। इन्हें प्रशिक्षु शिक्षक चयन 2011 के रूप में नियुक्ति मिली थी। 


उनका प्रशिक्षण पूरा होने के बाद बीते 9 एवं 10 सितंबर को परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने परीक्षा कराई और उसका परिणाम बीते छह अक्टूबर को जारी किया गया है। इसमें 839 प्रशिक्षु शिक्षक सफल भी हो गए हैं, लेकिन उन्हें मौलिक नियुक्ति नहीं दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि विशेष अनुज्ञा याचिका के तहत नियुक्त 839 शिक्षकों का प्रकरण अभी शीर्ष कोर्ट में विचाराधीन है इसलिए उन्हें सहायक अध्यापक पद पर तैनात करने के लिए शासन से अगला आदेश मिलने पर कार्यवाही की जाएगी। 


प्रशिक्षु शिक्षक अशोक द्विवेदी ने कहा है कि यदि दिवाली तक शासनादेश जारी न हुआ तो उनके साथी धरना स्थल पर ही बैठे रहेंगे। यहां आलोक श्रीवास्तव, अरविंद सिंह, नीरज राय, दिनेश पाठक आदि मौजूद थे। 


भर्ती के लिए आंदोलन जारी : शिक्षा निदेशालय में मंगलवार को भी शिक्षक भर्ती को लेकर आंदोलन जारी रहा। युवा बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में 30 हजार शिक्षकों की भर्ती शुरू कराने की मांग कर रहे हैं। बीटीसी 2013 बैच के यह युवा पिछले एक सप्ताह से परिषद सचिव कार्यालय के सामने आंदोलन कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक भर्ती के संबंध में शासन को प्रस्ताव नहीं भेजा जाएगा। आंदोलन चलता रहेगा। 


बालसन चौराहे पर पैदल मार्च आज : बीएड उत्थान जनसंघर्ष मोर्चा उप्र बुधवार को बालसन चौराहे से पैदल मार्च शुरू करेगा। यह मार्च चंद्रशेखर आजाद पार्क होते हुए लोकसेवा आयोग तक होगा। युवा स्कूलों में भर्तियों की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह व अजय सिंह ने सभी साथियों से सुबह दस बजे बालसन चौराहे पर पहुंचने का अनुरोध किया है।राज्य 

दीपावली नहीं मनाएंगे प्रशिक्षु शिक्षक और बीटीसी प्रशिक्षु : मौलिक नियुक्ति देने की मांग को लेकर बैठे धरने पर, बीटीसी प्रशिक्षु भी बड़ी भर्ती के लिए लगातार आंदोलित Reviewed by Sona Trivedi on 5:54 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.