हाईकोर्ट की सख्ती के बाद अब प्राइमरी के बच्चे बेंच पर बैठेंगे, नये सत्र के लिये बजट बनाने का काम शुरू

वाराणसी। हाईकोर्ट की सख्ती के बाद प्राथमिक और जूनियर विद्यालयों की बुनियादी स्थिति सुधारने की ओर बेसिक शिक्षा विभाग का ध्यान गया है। नये सत्र के बजट में स्कूलों में फर्नीचर की व्यवस्था करने की तैयारी शुरू हो गई है। बेसिक शिक्षा अधिकारियों से प्रस्ताव मांगा गया है। जिला स्तर पर बजट बनाने के लिए गाइडलाइन जारी हो गई है। बेसिक शिक्षा अधिकारियों से कहा गया है कि उनके जनपद के स्कूलों में कितने फर्नीचर की जरूरत होगी? इसका विवरण भेजें। फर्नीचर टू सीटर (डेस्क कम बेंच) होंगे। कक्षा एक से दो तक के बच्चों के लिए 2280 रुपए प्रति फर्नीचर, कक्षा तीन से पांच के लिए 3035 रुपए प्रति फर्नीचर और कक्षा छह से आठ तक के बच्चों के लिए 3630 प्रति फर्नीचर की दर से लागत का आगणन होगा। बजट का प्रस्ताव 31 जनवरी तक भेजना है। जिन स्कूलों में छात्रसंख्या सौ से अधिक है वहां सोलर सिस्टम लगाया जायेगा। इसके माध्यम से ट्यूबलाइट, पंखा और पेयजल की आपूर्ति होगी।

स्वच्छता पर रहेगा विशेष जोर: विद्यालयों में पेयजल की आपूर्ति के लिए ओवरहेड टैंक के निर्माण का भी प्रस्ताव होगा। यह टैंक उन्ही विद्यालयों में बनेंगे जहां छात्रसंख्या 100 से अधिक है। ऐसे विद्यालयों में एक अतिरिक्त शौचालय और बालिका शौचालय के साथ इंसीनरेटर की व्यवस्था होगी।

हाईकोर्ट की सख्ती के बाद अब प्राइमरी के बच्चे बेंच पर बैठेंगे, नये सत्र के लिये बजट बनाने का काम शुरू Reviewed by Brijesh Shrivastava on 8:57 AM Rating: 5

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.